एसटेट पास करने वाले सभी कैंडिडेट्स नौकरी के पात्र, पढ़िए पूरी डिटेल

माध्यमिक-उच्च माध्यमिक शिक्षक पात्रता में पास होने वाले सभी कैंडिडेट्स आगामी शिक्षक बहाली में पात्र होंगे। इसमें एसटीईटी 2011 और बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा 21 जून को जारी एसटीईटी-2019 की दोनों प्रकार की सूची के अभ्यर्थी शामिल हैं। शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा कि सरकार ने इस मुद्दे पर निर्णय कर लिया है। 2019 की एसटीईटी में जो भी क्वालिफाई किए हैं वे सभी 7वें शिक्षक नियोजन के लिए पात्र होंगे। चाहे वे बोर्ड द्वारा जारी सूची ‘क्वालिफाई बट नॉट इन मेरिट लिस्ट’ के हों। मंत्री ने कहा कि इसको लेकर मेरिट लिस्ट में नहीं आने वाले विद्यार्थी परेशान न हों।

इस पर निर्णय लिया जा चुका है और प्रक्रियाओं को पूरा करने के बाद शीघ्र ही विभाग की ओर से इसको लेकर अधिसूचना जारी कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग एनसीटीई का पूरी तरह से अनुसरण करता है। इसको लेकर पहले ही एसटीईटी में पात्र हो चुके अभ्यर्थियों की मान्यता लाइफटाइम की जा चुकी है। इस परिप्रेक्ष्य में 7वें शिक्षक नियोजन में 2011 में माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा में पास होने वाले भी अगले चरण की बहाली में आवेदन कर सकेंगे।

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की ओर से माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा (एसटीईटी) 2019 के सभी 15 विषयों का परिणाम घोषित कर दिया गया। समिति द्वारा घोषित रिजल्ट में कई अभ्यर्थी क्वालिफाई तो हुए, लेकिन वे मेधा सूची में स्थान नहीं बना पाए हैं। इसको लेकर एसटीईटी अभ्यर्थी विरोध कर रहे हैं। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के 19 सितंबर 2019 के नोटिफिकेशन में कहा गया कि जितने खाली पद होंगे, उतनी ही विषयवार रिक्तियों पर कोटि एवं अंक के अनुरूप मेरिट लिस्ट तैयार की जाएगी। क्वालिफाई करने के लिए कैंडिडेट्स को न्यूनतम कटआफ मार्क्‍स लाना जरूरी है।




.