कभी यूपीएससी टॉपर रहे रोमन सैनी ने यहां से की शुरुआत

UPSC: रोमन सैनी, एक बहुत ही जाना पहचाना नाम। इन्होंने न केवल 22 साल में यूपीएससी परीक्षा क्रैक की बल्कि अन्य उम्मीदवारों के लिए भी एक मिसाल बनें। जहां लोग अपना आधा जीवन यूपीएससी की तैयारी में बिता देते हैं, वहीं इन्होंने Unacademy की स्थापना के लिए भारतीय प्रशासनिक सेवा से इस्तीफा दे दिया था। रोमन सैनी ने जिस भी क्षेत्र में कदम रखा वहां अपना कीर्तिमान स्थापित किया। इनकी सफलता का सफर यूपीएससी परीक्षा में 18वीं रैंक के साथ टॉप करने के काफी पहले से ही शुरू हो चुका था। आइए जानते हैं रोमन सैनी के सफलता की पहली कहानी।

रोमन सैनी राजस्थान के कोटपुतली तहसील के छोटे से गांव रायकरनपुर के रहने वाले हैं। उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा राजस्थान बोर्ड से पूरी की है। पढ़ाई में ज़्यादा रुचि न होने के बावजूद भी रोमन सैनी ने कक्षा 12वीं में 91.4% अंक प्राप्त किए थे। इसके बाद उन्होंने AIIMS के लिए प्रवेश परीक्षा में बैठने का मन बनाया और यहीं से उनके सफलता का सफर शुरू हुआ। रोमन सैनी ने केवल 16 साल की उम्र में यह कठिन परीक्षा क्रैक की थी। इसके बाद उन्होंने AIIMS Delhi से MBBS की डिग्री पूरी की और वहीं पर बतौर जूनियर रेजिडेंट डॉक्टर के पद पर काम किया। हालांकि, कुछ समय बाद उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी थी।

बता दें कि ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेज (AIIMS), दिल्ली एक मेडिकल कॉलेज और मेडिकल रिसर्च पब्लिक यूनिवर्सिटी है‌। इसकी स्थापना 65 साल पहले हुई थी। यह जवाहरलाल नेहरू का ही सपना था कि देश में एक ऐसे केंद्र की स्थापना हो जिससे दक्षिण पूर्व एशिया में चिकित्सा शिक्षा और रिसर्च को बढ़ावा मिले। इस काम को पूरा करने में उन्हें तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्री राजकुमारी अमृत कौर का भरपूर सहयोग मिला था। ‌एम्स की नींव 1952 में रखी गई थी और इसकी स्थापना 1956 में संसद के एक अधिनियम के माध्यम से एक स्वायत्त संस्थान के रूप में की गई थी। वर्तमान में यहां लगभग 18933 छात्र अध्ययनरत हैं।




.