केंद्रीय विद्यालय में RTI में सामने आईं टीचर्स के बारे में ये जानकारी

केंद्रीय विद्यालय में एडमिशन की प्रक्रिया चल रही है। यहां कुछ ही सीटों पर एडमिशन के लिए लाखों स्टूडेंट्स अप्लाई करते हैं। क्या आपको पता है केंद्रीय विद्यालयों में टीचर्स की कमी हो रही है। एक आरटीआई में खुलासा हुआ है कि केंद्रीय विद्यालयों में करीब 20 फीसदी टीचर कम हैं। मतलब अगर किसी केवी में 20 टीचर होने चाहिए तो वहां केवल 16 टीचर ही हैं। यह जानकारी केंद्रीय विद्यालय संगठन की ओर से सूचना का अधिकार (आरटीआई) अधिनियम 2005 के तहत दी गई है। केंद्रीय विद्यालय में प्राइमरी से लेकर 12वीं तक की पढ़ाई कराई जाती है। जिसके लिए 46,884 पद हैं। इनमें से 37,648 पदों पर तो टीचर्स हैं। बाकी 9,236 पदों पर टीचर नहीं हैं। इस तरह 19.69 फीसदी (करीब 20 फीसदी पद) खाली हैं। यह डेटा 1 जुलाई 2021 तक का है।

आपको बता दें कि अलग अलग केंद्रीय विद्यालय टीचिंग और नॉन टीचिंग स्टाफ के लिए नौकरियां निकालते रहते हैं। अगर आप भी केंद्रीय विद्यालय में टीचर की नौकरी करना चाहते हैं तो https://kvsangathan.nic.in/ पर आपको इसकी जानकारी मिल सकती है। इसके अलावा हम भी यहां नौकरियों के बारे में लगातार जानकारियां देते रहते हैं।

हाल ही में सरकार ने केंद्रीय विद्यालयों में एडमिशन के लिए कोटा में बदलाव किया है। केंद्रीय विद्यालयों में अब सांसदों के कोटे के अलावा किसी नेता या मंत्री की सिफारिश पर बच्चों के एडमिशन नहीं हो पाएंगे। केंद्र सरकार ने केंद्रीय विद्यालयों में शिक्षा मंत्रालय का कोटा खत्म कर दिया है। अब सिर्फ सांसदों के पास ही अपने क्षेत्र में 10 एडमिशन कराने का अधिकार बचा है। अब केंद्र सरकार ने केंद्रीय विद्यालयों में एडमिशन में सांसदों के अलावा बाकी सब कोटा खत्म करने का फैसला किया है। यानी, अब केंद्रीय शिक्षा मंत्री के पास भी बतौर सांसद ही 10 कोटा बचेगा, उनके मंत्रालय को मिला भारी-भरकम कोटा छीन लिया गया है।





.