बिहार में कॉमर्स के लिए 6 महीने के भीतर आयोजित की जाएगी एसटीइटी परीक्षा

Bihar STET Exam: पटना हाईकोर्ट ने 24 जून को बिहार सरकार को कॉमर्स टीचर्स के रिक्त पदों पर 6 महीने के अंदर भर्ती करने का निर्देश दिया है। हाईकोर्ट के इस फैसले से लगभग 20000 कॉमर्स स्ट्रीम के एसटीइटी उम्मीदवारों को राहत मिलेगी, जो पिछले साल आयोजित परीक्षा में भाग लेने में असमर्थ थे। मोहम्मद अफरोज व अन्य द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस अनिल कुमार उपाध्याय ने सेकेंडरी और सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में STET Exam कराने के बाद कॉमर्स स्ट्रीम में शिक्षकों के स्वीकृत पदों पर भर्ती करने का आदेश दिया है।

याचिकाकर्ताओं के वकील दीनू कुमार और रितिका रानी ने कहा की पीठ ने राज्य सरकार को 3 महीने के अंदर कॉमर्स विषय में रिक्त पदों की संख्या निर्धारित करने और उसके बाद 6 महीने के अंदर STET Exam आयोजित करके कॉमर्स विषय के रिक्त पड़े स्वीकृत पदों पर भर्ती का निर्देश दिया है। रितिका रानी ने कहा, “साल 2011 में STET Exam आयोजित करने के बाद कॉमर्स विषय में भर्ती के लिए कोई विज्ञापन जारी नहीं किया गया था। हालांकि, राज्य सरकार ने जवाबी हलफनामे में कॉमर्स विषय में 1308 स्वीकृत रिक्त पदों‌ के होने की बात कही है।”

रितिका आगे कहती हैं कि सरकार ने 25 सितंबर 2019 को ही सेकेंडरी और सीनियर सेकेंडरी स्कूलों के कॉमर्स स्ट्रीम में पदों पर भर्ती करने का निर्णय लिया था लेकिन इसके लिए बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड से STET Exam आयोजित कराने की मांग नहीं की गई थी। जबकि, अन्य विषयों के लिए यह परीक्षा सितंबर 2020 में ही आयोजित की गई थी और इसका रिजल्ट भी घोषित कर दिया गया है। इस पर बोर्ड के वकील ने अदालत को सूचित किया कि बोर्ड द्वारा कॉमर्स स्ट्रीम के लिए परीक्षा आयोजित नहीं की गई क्योंकि सरकार ने इसके लिए कोई मांग नहीं की थी। रितिका कहती हैं कि कॉमर्स एक महत्वपूर्ण स्ट्रीम है और इस स्ट्रीम में योग्य शिक्षकों की कमी से छात्रों को भी नुकसान हो सकता है।

बता दें कि याचिकाकर्ताओं ने सेकेंडरी और सीनियर सेकेंडरी स्कूलों के कॉमर्स स्ट्रीम में शिक्षकों के स्वीकृत पद पर भर्ती के लिए हाईकोर्ट में आवेदन किया था।




.