यूपीएससी टॉपर अनमोल सिंह बेदी ने ऐसे प्राप्त की सफलता

UPSC: यूपीएससी परीक्षा में सफलता पाने के लिए हार्ड वर्क और टाइम मैनेजमेंट के साथ ही स्मार्ट वर्क भी करना चाहिए। ऐसा मानना है अनमोल सिंह बेदी का जिन्होंने 2016 में महज़ 23 साल की उम्र में यह कठिन परीक्षा न केवल पास की बल्कि दूसरी रैंक भी हासिल की थी।

यूपीएससी टॉपर रहे अनमोल सिंह बेदी अमृतसर पंजाब के रहने वाले हैं। इनके पिता डॉ.सरबजीत सिंह बेदी NIT जालंधर में प्रोफेसर हैं और उनकी माता जस्सी बेदी एक NGO के लिए काम करती हैं। अनमोल ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा स्प्रिंग डेल स्कूल से प्राप्त की है। इसके बाद उन्होंने बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड साइंस (BITS), पिलानी से कंप्यूटर साइंस में B.Tech की डिग्री हासिल की है। उन्होंने ग्रेजुएशन के फाइनल सेमेस्टर से ही यूपीएससी परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी थी।

परीक्षा कि उनकी स्ट्रेटजी की बात करें तो वह हर रोज करीब 8 घंटे पढ़ाई किया करते थे। अनमोल हिस्ट्री के लिए बिपिन चंद्र, इंडियन पॉलिटी के लिए लक्ष्मीकांत, इंडियन इकोनॉमी के लिए रमेश सिंह की किताब पढ़ने की सलाह देते हैं। इसके अलावा एनसीईआरटी की किताबें और करंट अफेयर्स के लिए न्यूज़पेपर पढ़ने पर भी जो़र देते हैं। बता दें कि अनमोल का वैकल्पिक विषय पॉलिटिकल साइंस और इंटरनेशनल रिलेशन था। यूपीएससी परीक्षा की तैयारी के लिए अनमोल ने कोचिंग अवश्य की थी लेकिन उसके अलावा भी उन्होंने काफी मेहनत की है।

UPSC: पिता थे दिहाड़ी मजदूर, सतीश ने बिना कोचिंग के पास किया यूपीएससी का एग्जाम

मेन्स आंसर राइटिंग के लिए अनमोल सरल और स्पष्ट तरीके से लिखने के अलावा बिंदुओं में लिखने की सलाह देते हैं। इसके साथ ही उनका कहना है कि किसी भी टॉपिक पर लिखने से पहले उसका इंट्रोडक्शन देना चाहिए और आखिर में निष्कर्ष लिखना बेहद महत्वपूर्ण होता है।

यूपीएससी परीक्षा की तैयारी के दौरान अनमोल ने कभी भी अपना हौसला कम नहीं होने दिया। अनमोल के परिवार वालों ने भी उनका भरपूर सहयोग किया, खासकर उनकी बहन गुरसिमरन ने हर कदम पर उनका साथ दिया। अनमोल का मानना है कि यूपीएससी परीक्षा में सफल होने के लिए हार्ड वर्क और टाइम मैनेजमेंट के साथ-साथ स्मार्ट वर्क करना आवश्यक है।




.