यूपी डीएलएड में ऐसे होंगे एडमिशन, सीएम योगी आदित्यनाथ ने लिया ये फैसला

UP D.El.Ed 2021 Admission: उत्तर प्रदेश में इस बार डिप्लोमा इन एलिमेंटरी एजुकेशन (डीएलएड) में एडमिशन किस प्रकार लिये जाएंगे? यूपी डीएलएड जिसे पहले बीटीसी यूपी के नाम से जानते थे, पर योगी आदित्यनाथ सरकार ने फैसला ले लिया है। जिसके बाद शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए डीएलएल एडमिशन प्रक्रिया का रास्ता साफ हो गया है।

डीएलएड एडमिशन के लिए उत्तर प्रदेश परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने प्रवेश परीक्षा लिये जाने का प्रस्ताव सरकार को भेजा था, लेकिन सरकार ने यह प्रस्ताव मंजूर नहीं किया है। यानी इस बार भी कक्षा 10वीं, 12वीं व ग्रेजुएशन के मार्क्स के आधार पर ही डीएलएड कोर्सेज में एडमिशन लिए जाएंगे।

यूपी में डीएलएड की कितनी सीटें: उत्तर प्रदेश में 67 जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थानों और 3,103 प्राइवेट कॉलेजेज़ व इंस्टीट्यूट्स में डीएलएड की पढ़ाई कराई जाती है। सरकारी संस्थानों में डीएलएड की 10,600 सीट्स हैं और निजी संस्थानों में इन सीटों की संख्या 2,31,600 है। पूरे राज्य में हर साल डीएलएड की 2,42,200 सीट्स पर एडमिशन लिए जाते हैं।

कोरोना संक्रमण की वजह से ही डीएलएड 2020 के लिए भी प्रवेश प्रक्रिया शुरू नहीं हो सकी थी। उस समय भी परीक्षा संस्था ने समय रहते इसका प्रस्ताव भेजा था। संक्रमण के हालात कुछ सुधरने पर डीएलएड 2020 के लिए प्रवेश कराने की मुहिम निजी कालेजों ने शुरू की, लेकिन इस पर निर्णय नहीं हो सका था।

टीईटी के ऑनलाइन आवेदन में देरी संभव: टीईटी के ऑनलाइन आवेदन भी जल्द शुरू होने के आसार नहीं है। परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने 15 जून से आवेदन का प्रस्ताव भेजा था। लेकिन वर्तमान परिस्थितियों में आवेदन शुरू होना मुमकिन नहीं दिख रहा।





.