UPTET Certificate: आजीवन मान्य होगा यूपीटीईटी सर्टिफिकेट, सरकार ने जारी किया आदेश

UPTET Certificate: उत्तर प्रदेश सरकार ने उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UPTET) की वैधता बढ़ा दी है। इससे पहले, UPTET स्कोर की वैधता 5 वर्ष थी और उसके बाद उम्मीदवारों को परीक्षा में फिर से भाग लेना पड़ता था। लेकिन अब सरकार के नए आदेश के बाद UPTET का स्कोर आजीवन मान्य होगा। यूपीटीईटी को पास करने वाले उम्मीदवार अपने पूरे जीवन में स्कोर का उपयोग कर सकेंगे।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर के यह जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने ट्वीट में कहा कि डी.एल.एड. पाठ्यक्रम में प्रवेश प्रक्रिया को पूर्ववत रखा जाए। भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के क्रम में उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यू.पी.टी.ई.टी.) के प्रमाण पत्र को आजीवन वैधता प्रदान की जाए।

देश में कोविड -19 की स्थिति के कारण, यूपी सरकार ने UPTET 2021 को अगली सूचना तक के लिए स्थगित कर दिया है। UPTET 2021 का आयोजन 25 जुलाई को होने वाला था।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने पहले एक आधिकारिक घोषणा की थी कि सरकार ने 2011 से पूर्वव्यापी प्रभाव से शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) योग्यता प्रमाण पत्र की वैधता अवधि को 7 साल से बढ़ाकर आजीवन करने का फैसला किया है। 2020 में, राष्ट्रीय शिक्षक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) ने सामान्य निकाय की 50वीं बैठक में टीईटी प्रमाणपत्र की वैधता को 7 साल से बढ़ाकर आजीवन करने की मंजूरी दी थी।

उन्होंने कहा कि संबंधित राज्य सरकारें / केंद्र शासित प्रदेश उन उम्मीदवारों को नए सिरे से टीईटी प्रमाण पत्र जारी करने / जारी करने के लिए आवश्यक कार्रवाई करेंगे, जिनकी 7 साल की अवधि पहले ही समाप्त हो चुकी है। एनसीटीई के 11 फरवरी, 2011 के दिशा-निर्देशों में कहा गया है कि टीईटी राज्य सरकारों द्वारा आयोजित की जाएगी।




.